Software Engineer किसे कहते हैं ? एवं सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बना जाता है?

सॉफ्टवेयर इंजीनियर किसे कहते हैं ?




दोस्तों आज किस टाइम पर प्रत्येक व्यक्ति के पास में मोबाइल लैपटॉप एवं कंप्यूटर तो होते ही हैं। और शायद आप यह भी जानते होंगे कि इनके अंदर एक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि अगर इन के अंदर सॉफ्टवेयर नहीं होगा तो यह कुछ भी काम नहीं करेंगे एक तरह से कहीं तो इन चीजों को सॉफ्टवेयर की मदद से ही चलाते हैं।और इस सॉफ्टवेयर की मदद से ही आप अपने मोबाइल एवं कंप्यूटर तथा लैपटॉप के अंदर फोटो एडिटिंग वीडियो एडिटिंग वीडियो प्लेयर आधे जैसे काम भी आसानी से कर सकते हो। और बहुत से ऐसे लोग भी हैं। जो कि कंप्यूटर और मोबाइल को अधिक से अधिक चला रहे हैं। और भविष्य में सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की सोच रहे है। जिससे वह आने वाले समय में ज्यादा से ज्यादा पैसा कमा सकें।

लेकिन साथियों हम आपको यहां पर बता दें कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना कोई आसान काम नहीं होता है। इसके लिए आपको दिन-रात मेहनत करनी पड़ती है। तब जाकर आप इस मुकाम पर पहुंच पाओगे और सी के साथ-साथ आपको कॉमर्स एवं कंप्यूटर जैसे सब्जेक्ट भी पढ़ रहे होंगे इसी के साथ आपको एमसीए मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन जैसा कोर्स भी करना पड़ेगा आपने भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की ठान ली है। तो फिर हम आपको विस्तार पूर्वक रूप से आज इसी के बारे में बताने वाले हैं। इसलिए पोस्ट में आगे तक बने रहे हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर किसे कहते हैं?

तो दोस्तों सॉफ्टवेयर इंजीनियर वह होता है। उदाहरण के तौर पर अगर आपके मोबाइल या फिर कंप्यूटर लैपटॉप में कोई कोई खराबी आ जाती है। तो उसे सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग ही ठीक करके देता है। और कोई भी नई एप्लीकेशन मोबाइल,लैपटॉप के बनाई जाती है। उसकी जानकारी भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पास में होती है। क्योंकि सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही सॉफ्टवेयर का निर्माण करता है। इसलिए इसे सॉफ्टवेयर इंजीनियर कहते हैं। और हम सॉफ्टवेयर इंजीनियर को सॉफ्टवेयर डेवलपर भी कह सकते हैं। तो अब आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर के बारे में ठीक से पता चल गया होगा।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनते हैं?

दोस्तों अब आपके मन में एक सवाल तो जरूर आया होगा। कि आखिरकार सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनते हैं? तो सबसे पहले मैं आपको यहां पर बता दूं कि अगर आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं। तो सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि आप किस फील्ड मैं इंजीनियर बनने की सोच रहे हैं। तो उसी फील्ड से संबंधित तो आपको पढ़ाई करनी पड़ती है। और इसी के साथ कोर्स भी करना पड़ेगा पर उससे संबंधित प्रैक्टिस भी करनी पड़ेगी तब जाकर आप उस फिल्म के इंजीनियर बन पाओगे चाहे वह फील्ड सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल या फिर कंप्यूटर का हो। यदि आपको इस प्रकार सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना है। तो आपको सॉफ्टवेयर से संबंधित ही पढ़ाई करनी पड़ेगी और सबसे अहम बात आपको अधिक से अधिक मेहनत करनी पड़ेगी तब आप एक बेहतरीन सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने का क्या कोर्स होता है?

दोस्तों यदि आप एक अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं। तो इसके लिए आपको कोर्स करने की आवश्यकता होती है। और उन सारे कोर्स की डिटेल्स मैंने आपको नीचे दे दी है। इनमें से आप किसी भी कोर्स को कर कर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ज्ञान ले सकते हो फिर आप आसानी से सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन पाओगे

• बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन ( BCA)

• बीट्रेक बैचलर इन कंप्यूटर साइंस ( B. tech in computer science )

• बैचलर इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी ( B.Tech in it )

• मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन ( MCA )

• एडवांस डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन ( DCA )

• डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन ( DCA )

तो दोस्तों यह है। वह कोर्स जिनमें से आप कोई भी कोर्स करने के बाद ही अच्छे और बेहतर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हो। और आने वाले समय में अच्छे खासे पैसे भी कमा सकते हो। इसी के साथ साथ आप स्वयं का सॉफ्टवेयर डेवलपर भी कर पाओगे।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होनी चाहिए?

यदि आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की सोच रहे हैं।तो फिर आपको ऊपर जितने भी कोर्स होता गए हैं। उनमें से आपको एक न एक तो करना अनिवार्य है। इसी के साथ इन्हें कुछ ऐसे कोर्स भी उपलब्ध हैं। जिनको करने के लिए आपको 12th क्लास मेंभौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान एवं गणित जैसे विषयों में अच्छी से अच्छी परसेंट से पास होना पड़ेगा। जैसे बैचलर इन कंप्यूटर साइंस, इंजीनियरिंग बैचलर इन इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ये कुछ ऐसे कोर्स भी होते हैं। जिनको आप 10th के बाद भी कर पाओगे जैसे कि डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन और डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस आदि।

बेस्ट सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या करें?

छाती में यदि आप एक बेहतरीन सोफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हो। तो इसके लिए आपको कुछ स्किल की आवश्यकता पड़ती है। और उनकी सहायता से ही आप एक अच्छे प्रोग्रामर बन पाओगे और हमने इनके बारे में नीचे विस्तार पूर्वक बताया है।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखें?

यदि आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की सोच रहे तो पहले आप को कंप्यूटर की लैंग्वेज के बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी है।उदाहरण के तौर पर सी प्लस प्लस, जावा, पाइथन, प्रोलॉग, स्केला, सीएस एस, कोबोल एवं फार्टन इत्यादि कहने का मतलब है। जब तक आप किसी लैंग्वेज के बारे में जानकारी नहीं होगी। तब तक आप किसी कंप्यूटर को ठीक नहीं कर पाओगे और अगर आप सब 12 इंजीनियर से संबंधित कोर्स करोगे तो फिर आप इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में अच्छे से अच्छा ज्ञान प्राप्त कर सकते हो। क्योंकि अगर आप उनके बारे में नॉलेज नहीं होगी। तो फिर आप सॉफ्टवेयर को उपयोग नहीं कर पाओगे

इसी के साथ आपको कंप्यूटर की अन्य चीजों के बारे में भी ज्ञान होना चाहिए। और जब भी किसी ने यह प्लीकेशन का निर्माण कर रहे हैं। उसके बारे में ज्ञान हो उसके बाद ही आप एक अच्छी एप्लीकेशन डेवलपर बन सकते हो। मान लो आपको इस एप्लीकेशन के बारे में ज्ञान नहीं है। तो फिर आप उन व्यक्तियों को कैसे इसके बारे में बता पाओगे? यदि आप लोगों को एप्लीकेशन के बारे में सही से नहीं बताओगे तो लोगों को एप्लीकेशन उपयोग करने में परेशानी आ जाती है।

इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कीजिए?

जब आप कंप्यूटर साइंस की डिग्री का कोर्स या फिर कंप्यूटर एप्लीकेशन से संबंधित कोई कोर्स करो तो जैसे ही आपका कोर्स खत्म हो जाए। तो फिर आप धीरे-धीरे सॉफ्टवेयर बनने की कोशिश करेंगे। तो फिर आप इसके बाद इंटर्नशिप के लिए भी चले जाएं। क्योंकि वहां पर आपको कंप्यूटर कोडिंग स्कूल एवं लैंग्वेज के बारे में और भी अधिक नॉलेज आपको देखने को मिलेगी।और आप जानेंगे कि सॉफ्टवेयर तैयार कैसे करते हैं? अगर आप इस पर ध्यान दोगे तो फिर आपका सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट पर एक्सपीरियंस धीरे धीरे बढ़ता चला जाएगा। इसके बाद आप एक सफल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हो।

कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री प्राप्त करें?

यदि आप चाहते हैं कि एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बने और अधिक से अधिक पैसे कमाए तो फिर इसके लिए आपको कंप्यूटर में मास्टर डिग्री प्राप्त करनी पड़ेगी। इसके लिए आप मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कहने का मतलब है एमसीए या फिर मास्टर इन कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग आदि कोर्स को कर सकते हो पर इसके बाद आप एक अच्छी से अच्छी कंपनी में जॉब प्राप्त कर सकते हो। और आप यह तो जानती होगी कि दुनिया के अंदर सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट है।और उसके अंदर लगभग 34% भारत के इंजीनियर काम कर रहे हैं।

फिर आपको उसके बाद इंटेल और आईबीएम इन कंपनी में भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर की काफी अधिक रिक्वायरमेंट होती है। तो इस प्रकार अगर आप एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनोगे तो फिर आप सॉफ्टवेयर कंपनी में लाखों रुपए तक कमा पाओगे तो इस जानकारी से आपको यह पता चल गया होगा कि जो सॉफ्टवेयर इंजीनियर होते हैं। वह किसी कंपनियां से डिपार्टमेंट में काम ना करते हुए खुद का कोई बिजनेस डालते हैं। हालांकि बहुत थोड़े समय के लिए किसी सरकारी डिपार्टमेंट में काम करते हैं।लेकिन कुछ समय के बाद वह खुद का व्यापार यानी कि बिजनेस शुरू कर देते हैं।

प्रोग्रामिंग लॉजिक बेहतर बनाने की कोशिश करें?

यदि आप भी एक अच्छे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हो तो फिर आप की लॉज स्ट्रांग एवं बेहतरीन होनी चाहिए। क्योंकि आपने जितने भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर देखे होंगे इन सभी के अंदर लॉजिक छुपा रहता है।और जब भी आप लोग किसी कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग बीसीए बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन जैसे कोर्स करो तो उनके अंदर आपको लॉजिक के बारे में बताया जाता है।इसी वजह से कोर्स करते वक्त आप को ध्यान पूर्वक रूप से पढ़ना है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए लोकप्रिय संस्थान कौन सी जगह पर स्थित है?

• इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मुंबई

•इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रुड़की

•इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी दिल्ली

•इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कानपुर

•शारदा यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा

•पीएसजी कॉलेज ऑफ सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोयंबटूर

•इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इलाहाबाद

• बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी

• नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दुर्गापुर

• मोतीलाल नेहरू इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी इलाहाबाद

• मणिपाल यूनिवर्सिटी

• देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर

• राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल

निष्कर्ष ( conclusion )

तो दोस्तों हमें उम्मीद है। इस लेख को पढ़ने के बाद आप काफी अच्छी तरीके से जान गए होंगे कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बन सकते हैं ?और कैसे हम इसके द्वारा पैसे कमा सकते हैं? यदि आपको हमारे द्वारा दी गई है जानकारी पसंद आई हो या फिर अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ या अभी तक भी शेयर कर सकते हैं। धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published.